Tuesday, 26 March 2019

बच्चो का मोटापा कैसे दूर करें।मोटापा

हैलो दोस्तो ।अगर आपका भी बच्चा जरूरत से ज्यादा मोटा या उसमे मोटापा बढ़ने लगता है ।तो ये अपके लिए एक बहुत बड़ी समस्या बन जाती है।एक समय था जब डायबिटीज केवल वयस्‍कों में ही देखने को मिलती थी, लेकिन स्‍वास्‍थ्‍य के प्रति लापरवाही से डायबिटीज बच्‍चों को भी अपना शिकार बनाता जा रहा है। लेकिन अगर माता-पिता चाहें तो अपने बच्‍चों की खानपान के प्रति आदतों को सुधार कर इससे दूर रख सकते हैं। बहुत से ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जिन्‍हें डायबिटीज में खाना हानिकारक होता है साथ ही इनके अत्‍यधिक सेवन से डायबिटीज होने का भी खतरा रहता है। तो आइए जानते हैं कि कौन से आहार आपके बच्‍चों की सेहत के लिए खतरा हैं।


Motapa kaise kam kare.
Motapa kaise door kare



फास्‍ट फूड:_


बच्चों में आमतौर पर हफ्ते में दो या दो से अधिक बार फास्ट फूड खाने की प्रवृत्ति देखी जाती है। ऐसे में बच्चों के शरीर में फास्ट फूड के जरिये जो यह अतिरिक्त कैलोरी पहुँच रही है, वह उनकी शारीरिक गतिविधि से पूरी तरह खर्च नहीं होती है और इस कारण वे मोटापे के शिकार होने लगते हैं। मोटापे के कारण बच्चों में सांस की तकलीफ और मधुमेह जैसी बीमारियां होने की संभावना बढ़ जाती है।

चॉकलेट, कैंडी और कुकीज:_


डायबिटीज में चीनी और चीनी से बने खाद्य-पदार्थों से परहेज करना चाहिए। ज्‍यादा चीनी वाले आहार जैसे - चॉकलेट, कैंडी और कुकीज में पोषक तत्‍व नही होते हैं और इनमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम होती है जिससे यह ब्‍लड में शुगर के स्‍तर को बढ़ा सकते हैं। इसके अलावा चीनी खाने से मोटापा बढ़ता है जो कि डायबीज के लिए खतरनाक है।

सॉफ्टड्रिंक:_


सॉफ्टड्रिंक बच्‍चों को बहुत पसंद होती है, जिसे बिना रोक टोक वो पीते हैं जबकि इसमें शुगर की मात्रा बहुत अधिक पाई जाती है, इसलिए इसके सेवन से ब्‍लड में शुगर को लेवल बढ़ा जाता है। इसमें कैलोरी की मात्रा भी बहुत अधिक होती है। जो डायबिटीज होने में मदद करती हैं।

केक और पेस्‍ट्री:_

बच्‍चों को केक और पेस्‍ट्री की लत से दूर रखना चाहिए, क्‍योंकि केक को बनाते वक्‍त सोडियम, चीनी आदि का प्रयोग किया जाता है जो कि ब्‍लड में शुगर के लेवेल को बढ़ाता है। यह इंसुलिन के फंक्‍शन को भी प्रभावित करता है। इसके अलावा केक और पेस्‍ट्री दिल की बीमारियों को भी बढ़ाता है।

No comments:

Post a Comment